You are currently viewing Loan Ke Prakar | Bank Se Loan Kaise Le in Hindi – Best Guide 2022

Loan Ke Prakar | Bank Se Loan Kaise Le in Hindi – Best Guide 2022

Bank Se Loan Kaise Le in Hindi दोस्तों, पैसे की जरूरत हर इंसान को होती हैं। इसलिए जीवन में कई बार ऐसे मौके आ जाते हैं जब हमें पैसो की अत्यंत जरूरत आन पड़ती हैं। और ऐसी स्थिति में हम या तो किसी से ब्याज पर पैसे उधार लेते हैं या उसके लिए बैंक से लोन लेना पड़ता हैं। अतः लोन जरूरत पड़ने पर जल्दी पैसा जुटाने का एक बहुत ही बढ़िया तरीका हैं।

लेकिन बैंक से लोन लेना सबके लिए इतना आसान नहीं होता हैं। अतः आज इस लेख में हम इसी के बारे में बात करेंगे कि बैंक से लोन कैसे लें और उसके लिए हमें क्या प्रक्रिया अपनानी होगी। अतः पूरी जानकारी के लिए आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े। आईये समझते है Bank Se Loan Kaise Le in Hindi

Loan Ke Prakar (Types of Loan in Hindi):

भारत में बैंकों द्वारा कई प्रकार के लोन प्रदान किये जाते हैं। जिन्हें उद्देश्य के आधार पर दो श्रेणियों में बाँटा गया हैं। Secured Loan (सुरक्षित लोन) और Unsecured Loan (असुरक्षित लोन).

Secured Loan (सुरक्षित लोन):

बैंकों द्वारा जब किसी वस्तु या प्रॉपर्टी को गिरवी रख कर लोन दिया जाता हैं तो उसे Secured Loan कहा जाता हैं। इस प्रकार के लोन में ब्याज दर Unsecured loan की अपेक्षा कम होती हैं।

इस तरह के लोन में बैंक द्वारा प्रॉपर्टी की मार्केट वैल्यू हिसाब से कुल वैल्यू का लगभग 80% तक लोन दिया जाता हैं। इस लोन की अवधि ज्यादा होती हैं तथा इसमें प्रॉपर्टी के अनुसार ज्यादा बड़ी मात्रा में लोन लिया जा सकता हैं।

इसमें लोन प्रदाता (बैंक) को जोखिम कम रहता हैं। यदि उधारकर्ता इस लोन को चुकाने में असमर्थ रहता हैं तो बैंक द्वारा उसकी संपत्ति को जब्त करके उससे लोन की भरपाई की जा सकती हैं। Secured Loan के कुछ उदाहरण नीचे दिए गए हैं। आईये इनके बारे में जानते हैं।

Types of Secured Loan:

  • Home Loan
  • Gold Loan
  • Car Loan(वाहन लोन)
  • Business Loan( व्यसायिक लोन)
  • प्रतिभूतियों पर लोन
Home Loan:
house lights turned on
Photo by Binyamin Mellish on Pexels.com

किसी व्यक्ति को उसके सपनों का घर खरीदने या बनाने के लिए दिया जाने वाला लोन होम लोन कहलाता हैं। होम लोन का उपयोग आप प्लॉट खरीदने या अपने पुराने घर की मरम्मत करने के लिए भी कर सकते हैं।

Gold Loan:

गोल्ड लोन लेने के बदले में सोना या सोने के आभूषण बैंक को गिरवी रखना होता हैं। इस तरह के लोन की राशि गिरवी रखे गए सोने के मूल्य के आधार पर कम या ज्यादा हो सकती हैं। अल्पकालिक उद्द्श्यों के लिए गोल्ड लोन को काफी अच्छा माना जाता हैं।

Car Loan:

नए या पुराने वाहन खरीदने के लिए दिया जाने वाला लोन वाहन लोन की श्रेणी में आता हैं। इस प्रकार के लोन के अंतर्गत लोन की अवधि तक वाहन पर मालिकाना हक बैंक का ही रहता हैं। लोन न चुकाने की स्थिति में बैंक द्वारा वाहन को जब्त करके उससे ऋण की भरपाई की जा सकती है।

Business Loan (व्यसायिक लोन):

बिज़नेस या व्यसायिक लोन स्माल और मीडियम स्तर के व्यवसाय की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए दिया जाता हैं। इस लोन का उद्देश्य बिज़नेस की कई प्रकार की जरूरतों को पूरा करने लिए किया जाता हैं जैसे – उपकरण खरीदना, माल खरीदना, कर्मचारियों के वेतन का भुगतान, विपणन व्यय, व्यावसायिक ऋणों का भुगतान, प्रशासनिक खर्चों का भुगतान, और यहां तक कि एक नई शाखा शुरू करना या केएफसी और डोमिनोज जैसी फ्रेंचाइजी प्राप्त करना।

प्रतिभूतियों पर लोन:

एक ऐसा लोन जिसमें आप अपने शेयर, म्यूच्यूअल फण्ड, बिमा पॉलिसी आदि के ऊपर बैंक से लोन ले सकते है। इसमें प्रतिभूतियों को बैंक में जमा करने के पश्चात बैंक आपको अपने खाते में ओवरड्राफ्ट की सुविधा प्रदान करता हैं। इस सुविधा के अंतर्गत आप बैंक से जितना पैसा ओवरड्राफ्ट के रूप में निकालते हैं बैंक उसी पैसे पर ब्याज लेता हैं।

Unsecured Loan (असुरक्षित लोन):

बैंक द्वारा बिना किसी प्रॉपर्टी या वस्तु के बदले दिया जाने वाला लोन Unsecured Loan (असुरक्षित लोन) की श्रेणी में आता है। लेकिन इसमें कई बातों को चेक किया जाता है जैसे लोन लेने वाले का चुकौती इतिहास, क्रेडिट स्कोर, इनकम सोर्स, और ऋण चुकाने की क्षमता आदि।

इस प्रकार के ऋण की अवधि कम होती है। इसमें ब्याज दर अधिक होती हैं लेकिन ज्यादा बड़ा लोन नहीं दिया जाता हैं।

Unsecured Loan के प्रकार:

  • पर्सनल लोन
  • शिक्षा लोन
  • क्रेडिट कार्ड लोन
पर्सनल लोन:

इस प्रकार का लोन आप अपने पर्सनल खर्चों के लिए ले सकते है। जैसे पारिवारिक शादी विवाह, यात्रा करना या बीमारी का इलाज कराना या ऐसे ही किसी ही किसी जुरूरी काम के लिए पर्सनल लोन लिया जा सकता है।

ऐसे लोन की ब्याज दर अधिक होती हैं। इसके लिए उच्च क्रेडिट स्कोर एवं नियमित उच्च इनकम की जरूरत होती हैं।

पर्सनल लोन कितना मिल सकता है?

सभी कमर्शियल बैंक तथा NBFC पर्सनल लोन के अंतर्गत अलग अलग लोन राशि प्रदान करते हैं। लोन की राशि आपकी monthly income के ऊपर निर्भर करती हैं।

अगर आपकी न्यूनतम मासिक आय 15000 हैं तो कई बड़े बैंक और NBFC (Non Banking Finencial Corporation) द्वारा आपको 5 लाख से लेकर 25 लाख तक का लोन मिल सकता हैं। वहीं अगर आपकी मासिक आय 25000 तक हैं तो बैंक आपको 40 लाख तक का लोन दे सकता हैं।

विभिन्न बैंकों की लोन राशि एवं योग्यता:
बैंक / लोन संस्थानलोन राशि न्यूनतम योग्य आय
एक्सिस बैंक15 लाख तक 15,000 प्रति माह
पंजाब नेशनल बैंक25 लाख तक15,000 प्रति माह
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 20 लाख तक15,000 प्रति माह
बजाज फिनसर्व25 लाख तक25,000 प्रति माह
ICICI बैंक 25 लाख तक17,500 प्रति माह
कोटक महिंद्रा बैंक25 लाख तक25,000 प्रति माह
HDFC बैंक40 लाख तक25,000 प्रति माह
इंडसइंड बैंक15 लाख तक25,000 प्रति माह
फुलटर्न इंडिया25 लाख तक20,000 प्रति माह
नोट: निम्न आंकड़े सांकेतिक हैं इनमे परिवर्तन बैंक और NBFC के विवेक पर निर्भर हैं।
कौन सा बैंक सबसे सस्ता लोन देता है?

वर्तमान में सस्ता पर्सनल लोन यूनियन बैंक द्वारा दिया जा रहा हैं जिसकी ब्याज दर 8.90% हैं। इसके साथ सेंटर बैंक और पंजाब नेशनल बैंक भी इसी ब्याज दर पर पर्सनल लोन दे रहे हैं।

इसके आलावा कुछ अन्य बैंक भी थोड़े सस्ते लोन प्रदान कर रहे हैं। जिनमें IDBI Bank, Indian Bank, Karur Veshy Bank, SBI Bank, Bank of Maharashtra भी सस्ती ब्याज दरों पर पर्सनल लोन दे रहे हैं।

बिना ब्याज के लोन कैसे मिलता है?

आजकल कई सरकारी योजनाएं चलायी जा रही हैं जिनके अंतर्गत गरीब लोगों को उनका स्वरोजगार शुरू करने के लिए बिना ब्याज के लोन प्रदान किये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना एक ऐसी ही स्कीम हैं। इसके अलावा प्रधान मंत्री मुद्रा योजना भी बेहद कम ब्याज दर पर लोन लेने का एक बेहतर तरीका हैं।

Bank Se Loan Kaise Le in Hindi?

अभी तक आपने विभिन्न प्रकार के लोन बारे में जानकारी प्राप्त की है। आईये अब जानते हैं कि bank se loan kaise le? वैसे बैंकों द्वारा विभिन्न प्रकार के लोन दिए जाते हैं और उनके लिए योग्यता और प्रोसेस भी अलग अलग होती हैं। अतः यहाँ हम केवल पर्सनल लोन लेने की प्रक्रिया और दस्तावेजों के बारे में जानेंगे।

आईये अब जानते हैं कि बैंक में लोन लेने के लिए क्या करना पड़ेगा? लोन हेतु आवश्यक दस्तावेज एवं लोन हेतु पात्रता क्या हैं?

पर्सनल लोन हेतु पात्रता क्या हैं?

  • आवेदक को भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • नौकरीपेशा आवेदक की आयु सीमा 21 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए। वही गैर- नौकरीपेशा के लिए आयु सीमा 21 से 65 वर्ष हैं।
  • नौकरीपेशा आवेदक की Monthly Income कम से कम 15000 रूपये होनी चाहिए। वहीं गैर- नौकरीपेशा के की मासिक आय 18000 रूपये होनी चाहिए।
  • आवेदक को मौजूदा नौकरी में कम से कम 6 महीने से कार्यरत होना चाहिए। यदि खुद का कोई बिज़नेस है तो उसमे लगातार 2 वर्ष का अनुभव होना जरुरी हैं।
  • आवेदक का क्रेडिट स्कोर 750 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • बैंक में खाता होना जरुरी हैं।

पर्सनल लोन हेतु आवश्यक दस्तावेज:

  • आवेदक का फोटो पहचान पत्र जैसे – वोटर ID / पासपोर्ट / ड्राईविंग लाइसेंस / आधार कार्ड़ की फोटो कॉपी।
  • आवेदक के निवास का प्रमाण – राशन कार्ड, नल या बिजली बिल
  • आवेदक के पिछले 6 महीने के Bank Statement .
  • नौकरी की सैलेरी स्लिप अथवा खुद के रोजगार का प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज के फोटो
  • ईमेल आईडी
  • फोन नंबर

लोन हेतु आवेदन कैसे करें?

बैंक से लोन लेने के लिए आपको बैंक जाकर बैंक मैनेजर से लोन के बारे में बात करनी होगी। इसके बाद बैंक मैनेजर आपके काम काज, इनकम के बारे में जानकारी और अतिरिक्त जानकारी मांगेगा आपको सही और सारी जानकारी देनी होगी।

बैंक मैनेजर की सहमति के बाद बैंक आपको एक application form देगा जिसे आपको सही जानकारी के साथ पूरा भरकर जरुरी दस्तावेजों के साथ बैंक में जमा करना होगा।

इसके बाद बैंक आपके क्रेडिट स्कोर और आपके सभी Documents को वेरीफाई करेगा। इसके पश्चात एक फाइनल रिपोर्ट तैयार करके बैंक मैनेजर को प्रेषित की जाएगी। इसके बाद बैंक मैनेजर द्वारा अंतिम मंजूरी दिए जाने पर आपके बैंक अकाउंट में ऋण की राशि ट्रांसफर कर दी जाएगी।

Conclusion:

बैंक कई प्रकार के लोन प्रदान करते हैं। सभी प्रकार के बैंक लोन के लिए पात्रता और लोन प्रोसेस अलग अलग होती हैं। अगर आप सिक्योर्ड लोन लेते हैं तो इसमें आपको अपनी प्रॉपर्टी की कीमत के हिसाब बड़ा लोन भी मिल जाता हैं। इसकी ब्याज दर कम होती हैं।

वहीं अगर आप unsecured loan लेते हैं तो इसके लिए आपको एक गारंटर की जरूरत होती हैं। इसके लिए आवेदनकर्ता की इनकम और क्रेडिट स्कोर बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं। यदि ये दोनों चीजे अच्छी हैं तो आवेदक को लोन मिलने में आसानी होती हैं।

unsecured loan की ब्याज दर थोड़ी ज्यादा होती है लेकिन इसमें ज्यादा बड़ा लोन नहीं मिलता हैं। लोन लेने केलिए आपको सबसे पहले बैंक मैनेजर से मिलकर लोन के बारे में बात करनी होगी। यदि आप लोन लेने की पात्रता रखते गे तो बैंक आपको आगे की कार्यवाही के लिए लोन फॉर्म भरने को कहेगा इसके बाद आपको लोन फॉर्म के साथ जरुरी डाक्यूमेंट्स सलग्न करके जमा करने होंगे। इसके कुछ दिनों बाद बाद बैंक आपका लोन approve करके लोन की राशि आपके खाते में ट्रांसफर कर देगा।

तो फ्रेंड्स इस लेख में आज आपने जाना कि बैंक लोन कितने प्रकार के होते है और Bank Se Loan Kaise Le. अगर आपको ये जानकारी पसंद आयी हो तो इसे शेयर करके अन्य लोगों तक जरूर पहुंचाए। साथ ही इस लेख से से सम्बंधित आपके कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

आप ये भी जरूर पढ़े:

Leave a Reply